logo
add image

नीमच से गए मजदूरों में झाबुआ की एक महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

अब तक पता नही चल पाया पोजिटिव कौन था जो कर गया सबकों अन्य सक्रमिंत

 नीमच कोरोना संक्रमण नीमच पहुंच गया। मंगलवार देर रात मिली रिपोर्ट में दो क्षेत्रों से चार लोग पॉजिटिव मिले। कलेक्टर जितेंद्र सिंह राजे ने नगरीय क्षेत्र में कर्फ्यू के निर्देश दिए। झाबुआ जिले में भी पहला केस सामने आया। नीमच में गत सप्ताह इसी परिवार में आए दाहोद निवासी मेहमानों में से 7 सदस्य कोरोना पॉजिटिव निकले थे। सूचना पर नीमच का संबंधित क्षेत्र कंटेनमेंट क्षेत्र बना दिया गया था।मंगलवार रात मिली 46 रिपोर्ट में से 41 निगेटिव, 1 रिजेक्ट व 4 पॉजिटिव आई हैं। खास बात यह है कि इन चारों पॉजिटिव लोगों में वायरस के एक भी लक्षण नहीं पाए गए। कर्फ्यू लगते ही अफीम तौल नहीं हो सकी।
झाबुआ की किलेबंदी में भी सेंध
जिले के पेटलावद के गांव नाहरपुरा की महिला की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। नाहरपुरा क्षेत्र को कंटेनमेंट एरिया घोषित कर स्वास्थ्य टीम भेजी गई है। महिला के घर को सील कर दिया गया है। बता दें कि महिला 29 अप्रैल को नीमच के नयागांव (राजस्थान सीमा) से मजदूरों को लाने वाली बस से अपने गृहगांव आई थी। बस में यात्रा करने वाले दाहोद निवासी परिवार के 14 लोग भी सवार थे। इनमें से 7 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।इसके बाद प्रशासन ने बस में यात्रा करने वाले झाबुआ जिले के नाहरपुरा, रलियामन और खोरिया के मजदूरों को क्वारंटाइन कर सैंपल जांच के लिए भेजे थे। आने के बाद महिला पिता के घर गांव केसरपुरा भी गई थी। उन लोगों को भी भी क्वारंटाइन किया गया है। बस में सवार यात्रियों की सूची भी त्रुटिपूर्ण सामने आई।
उज्जैन में कोरोना का कहर जारी
उज्जैन जिले में कोरोना संक्रमण से मौतों का सिलसिला जारी है। बुधवार को दो और मौतें दर्ज हुईं। इसके साथ ही मृतकों का आंकड़ा 42 तक पहुंच गया। 14 नए पॉजिटिव केस भी आए। इन्हें मिलाकर अब तक जिले में 201 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से तीन मरीज रतलाम जिले में पाए गए थे। नए मामलों में 4 बड़नगर और शेष उज्जैन शहर के कंटेनमेंट इलाकों के हैं। बीते 17 दिनों में 34 मौतें दर्ज की गई हैं, वहीं पॉजिटिव केस भी बढ़े हैं। इस बीच राहत की खबर भी है। बु


Top