logo
add image

सरकारी कांकड की जमीन पर प्लाट काटने की शिकायत !

मनासा। मनासा नगर मे भुमाफियाओ द्वारा कच्ची कॉलोनीया धडल्ले से काटने का काम किया जा रहा है। भुमाफियाओ के इतने होसले बुलंद है कि वे सरकारी जमीन को बेचने मे बिल्कुल भी झिझक नही रहे है। कुछ ऐसे ही मामले मे एक शिकायत पुलिस व अनुविभागीय अधिकारी को हुई है। जिसमे लिखा गया है कि सरकारी काकड की जमीन जिस पर बरसो से किसानो के खेत पर आने जाने का रास्ता है। उस पर भुखंड काटने की कोशिश की जा रही है। शिकायत मे लिखा गया है कि नगर के दो भुमाफियओ द्वारा अवैध रूप से प्लाट काट कर बेच देने की भी खबर है ! अनुविभागीय अधिकारी व पुलिस को किसानो ने शिकायत करते हुए लिखा है कि मौजा पितपुर व मौजा मनासा की कांकड सीमा से होकर सरकारी भुमि सर्वे नंबर 896 स्थित है। जो एक मात्र रास्ता है। उक्त भुमि पर दो भुमाफियाओ ने गत 12 जनवरी को अवैध रूप से जेसीबी चलाकर कार्य प्रारंभ कर दिया है। जिसकी जानकारी मिलने के बाद जब हम मौके पर गए तो वहां देखा कि जेसीबी से काम किया जा रहा है। वहां से हमने भुमाफियाओ व जेसीबी को मौके से भगाया साथ ही पुलिस मे इसकी शिकायत भी की है। उक्त सरकारी कांकड की जमीन पर अवैधानिक तरिके कब्जा करने की शिकायत राजस्व अनुविभागीय अधिकारी को भी की है।
किसानो ने कहा एक ही रास्ता है खेत पर जाने का – सरकारी सर्वे नंबर पर प्लाट कॉटने की शिकायत किसान बंशीलाल कछावा, जीवन कुशवाह, रमेशचंद्र ,मोहनजलाल ,तुलसीराम,मम्मु खां, राधेश्याम ने की है कि सरकारी सर्वे नंबर 896 पीतपुर व मनासा के बीच के सर्वे नंबर पर दो भुमाफियाओ द्वारा प्लाट काटे जा रहे है। जिसका सीमाकंन किया जाए। उक्त सरकारी जमीन से प्लाट कांटने वाले भुमाफियाओ को रोका जाए। नगर मे कई कच्ची कॉलोनीयो मे सरकारी जमीन का हो रहा खेल! नगर मे कई समय से नगर के चारो ओर कच्ची कॉलोनीयां काटने का काम बैखौफ तरिके से किया जा रहा है। जिसमे न तो प्रशासन से डायवर्सन की अनुमति ली जा रही है। निर्माण कार्य की ख्ुाले तौर पर प्रशासन के अधिकारी कर्मचारीयो की मिलीभगत से ख्ुाला खेल खेला जा रहा है। यही नही बेचे गए भूखंड कई क्रेताओ को आज तक मौके पर भी नही मिल पा रहे है ! ऐसे मे कई शिकायते भी प्रशासन के पास पहुची है पर नतीजन मामला भ्रष्टाचार की भेट चढ गए। इस मामले मे एसडीएम पी.एल. देवडा ने कहा कि शिकायत मिली है । तहसीलदार को जांच के निर्देश दिए है जांच कर उचित कार्यवाही करने की बात कही।
सीमाकंन के बाद ही स्पष्ट होगा
जिस सर्वे नंबर की शिकायत किसानो द्वारा की गई है उसका सीमाकंन होने के बाद ही पुरा मामला स्पष्ट हो पाएगा। उक्त जमीन पीतपुर व मनासा के बीच की है।
अजय शर्मा पटवारी मनासा


Top