जायसवाल समाज के संरक्षक मनोहरलाल जायसवाल की पार्थिव देह पंचतत्व में विलिन

0
35

नीमच । जायसवाल समाज के संरक्षक एवं डाक विभाग से सेवानिवृत्त डाक अधिदर्शक मनोहरलाल जायसवाल का निधन 85 वर्श की आयु में सोमवार-मंगलवार की मध्य रात्रि 3.30 बजे हो गया है । जिसकी शवयात्रा उनके निवास श्री बड़े बालाजी मंदिर के सामने 158, नया बाजार से निकाली गई । उनका अंतिम संस्कार नीमचसिटी रोड़ स्थित जायसवाल समाज मुक्तिधाम पर वैद्धिक मंत्रोच्चार पं. जगदीष शर्मा द्वारा हवन में आहूतियों के साथ करवाया । मुखाग्निी उनके ज्येष्ठ पुत्र कमलेश जायसवाल मामा ने दी । स्वर्गीय मनोहरलाल जायसवाल अनिल (सागर) के काकाजी, कमलेश मामा, कुन्दन (पेट्रोल पम्प), भगवती (आर्या गैस), अर्जुनसिंह (पत्रकार), दिलीप (बेबीहुड) के पिताजी एवं गोवर्धन (श्याम गैस), राजेष (पप्पू),प्रकाश जायसवाल (लाईट टेन्ट) के ताऊजी, गगन, सिद्धार्थ, विकास, गौरव, उमंग, अमन, इशांत, विहान, अर्श के दादाजी थे मुक्तिधाम पर आयोजित शोक सभा में भूतपूर्व सैनिक परिषद् के कमलेश नलवाया, पेंशनर संघ के कांषीराम बोरीवाल, कृति के सत्येन्द्र राठौर, सत्येन्द्र सक्सेना, किशोर जवेरिया, जायसवाल समाज के अध्यक्ष सुरेश जायसवाल, वैश्य सम्मेलन के दिनेश मित्तल, प्रकाश भटृ, वरिश्ठ पत्रकार धर्मेन्द्र शर्मा, एड़ विजय जायसवाल, विजय जैन गोल्डन, भानु दवे, डा. मनोहर गुजेरिया, अजय भटनागर, एड़ अरविन्द जायसवाल, पार्षद साबिर मसूदी, जगदीश बोरीवाल, संपादक विमल जैन, जयप्रेमी अहीर, तेजसिंह शक्तावत, मुतूजा जमाली, बेनाडिक कपूर, आरिफ शेख, मनीश कौशल, राहुल परिहार, लायंस क्लब के अरविन्द जायसवाल, अग्रवाल समाज के गुणवन्त ऐरन, जायसवाल सोश्यल ग्रुप के राजेश जायसवाल (आॅटो), राजेश जायसवाल (पराग), राजेश जायसवाल (विडियो), नंदकिशोर जायसवाल, ईश्वर जायसवाल, गोपाल जायसवाल, सौरभ जायसवाल, बादल जायसवाल, आकाश जायसवाल, डा. राजेन्द्र जायसवाल, रमेश जायसवाल, अशोक जायसवाल चित्तौड़गढ, आनंद जायसवाल, राघव जायसवाल छोटी सादड़ी, नारायण काबरा जावद, राजेन्द्र जायसवाल हूरड़ा, चन्द्रप्रकाश मोमू लालवानी, अशोक सागर, कमल शर्मा, शांतिलाल जायसवाल, राजेन्द्र धाकड़, प्रशांत जायसवाल, मुकेश जायसवाल, जगदीष चौधरी अम्बिका लॉज, अंकित जायसवाल, शैलेन्द्र पोरवाल, रघुनंदन पाराशर, डा. जीवन कोषिक, दीपक जायसवाल, गोपाल बैरागी, अजय शर्मा, प्रकाश भटृ, आदि ने शोक संवेदना व्यक्त कर श्रद्धा सुमन अर्पित किये । मुक्तिधाम पर आयोजित श्रद्धाजंली सभा में वक्ताओं ने कहा कि स्व. मनोहरलाल जायसवाल ने 34 वर्ष तक डाक विभाग में रहकर सरल, शांत, साधारण रहकर शहर के लोगों की सेवा की वे अपने जीवन काल में नियमित पूजा पाठ एवं गौसेवा के लिये प्रख्यात थे । उन्होने श्री बड़े बालाजी मंदिर पर जीवनपर्यन्त सावन मास में रामायण पाठ किया था । उनकी सादगी एवं कर्तव्य निष्ठता उनकी संतान में झलकती है वे जीवनपर्यन्त व्यवहारिकता के पक्षधर थे वे विद्यार्थी जीवन से ही गीत-संगीत, भजन कीर्तन में रूचि रखते थे डाक विभाग के अधिकारी हमेषा उनसे ही पत्र व्यवहार करवाते थे क्योंकि उनकी हस्तलिपी टाईपिंग जैसी होती थी । जिसका उठावना 20 दिसम्बर गुरूवार शाम 4.30 बजे अग्रवाल पंचायत भवन बारादरी छावनी पर आयोजित होगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here