अवैेध खनन पर नपा की जेसीबी व तीन डम्पर का खनिज विभाग ने बनाया पंचनामा :- श्री परिहार

0
583

नीमच। नीमच शहर से मात्र 6 कि.मी दूर ग्राम चौथखेड़ा में आज दिनांक 12.06.2018 को खनीज विभाग ने नगर पालिका की एक बिना नंम्बर के ऐ जेसीबी व तीन डम्पर का खनीज विभाग के अधिकारी श्री भिड़े ने अवेध खनन का पंचनामा बनाया। सामाजिक कार्यकर्ता गिरजा शंकर परिहार व पूजारी मदन लाल गुर्जर ने बताया की ग्राम चैथखेड़ा में शासकिय मंदीर के पास चरनोइ की भूमी सर्वे क्रं. 169 पर विगत 3-4 दिन से रात में अवेध खनन करके मोहरम निकाला जा रहा है जिसकी शिकायत 11.06.2018 को जिला कलेक्टर महोदय को भी की गई थी। 11.06.2018 की रात को कुछ ग्रामिंण इखटा हो कर अवेध खनन कौन करता है वह रात को मंदिर के आस-पास घुमते रहे रात को 12.00 बजे के करीब एक जेसीबी और तीन डम्पर आकर खुदाई करने लगे तभी चौथखेड़ा के ग्रामिड़ इकहटा हो गये व डम्पर चालक ओर जेसीबी चालक चारों जनों को गाड़ी से उतारकर घेर कर बिठा लिया तब उन्होनें कहा की जेसीबी और डम्पर नगर पालिका के है। नगर पालिका अध्यक्ष राकेश पप्पू जैन के कहने पर मोहरम लेने आये है। इस पर रात को एक बजें डिप्टी कलेक्टर वन्दना मेहरा अट्टू को स्थिती से अवगत कराया तब कुछ ही देर में ैण्प्ण् सुनीता भलराय पूलिस टीम के साथ घटना स्थल पर पहूँची व जेसीबी और डम्पर को थाने में ले जाने लगी तब ग्रामिणों और पूलिस के बिच बहस-बाजी भी हुई ग्रामिंण कह रहे थे की यह शासकिय भूमी चरनौई की है ओर खनन अवेध है। कलेक्टर आवेंगे तभी जेसीबी और डम्पर को जाने देंगे काफी बहस होने के बाद पूलिस डम्पर चालक ओर जेसीबी चालक को पूलिस थाने ले गई। दिनांक 12.06.2016 को 9.00 बजे के लगभग तहसीलदार गोपाल सोनी पूलिस बल के साथ और खनिज अधिकारी श्री भीड़े भी वहॉ पहूँच गये तब पूजारी मदनलाल गुर्जर ने बताया की शासकिय मंदिर के पास चरनौई की शासकिय भूमी सर्वे क्रंमाक 169 पर कमला बाई ने अतिक्रमण कर झोपडी बनाली है व वर्ष 2012 से शिकासत कि गई है ओर आपके न्यायालय आदेश दिनांक 04.07.2016 को अतीक्रमण हटाने का आदेश भी दिया और आपने अभी तक चरनौई की भूमी पर से अतीक्रमण नहीं हटाया और दो-तीन दिन से यहाँ नगर पालिका के द्वारा अवेध खनन किया जा रहा है। जिसे ग्रामिणों की मदद से इनको रंगे हाथ पकड़ लिया तब तेहसीलदार ने कहा की शासकिय भूमी है व सड़क निर्माण में ले जा रहे है तब ग्रामिणों न व तेहसीलदार के बीच काफी नौक-झौक हूई तब तहेसीदार गोपाल सोनी ने कहा की जो अवेध खनन कीया है वहाँ गड्डे भरवा देते है, व आस-पास खई खुदवा देते है तब ग्रामिंण माने व बारीश के बाद अतीक्रमंण हटाने की बात कही गई। ग्रामिंण तहसीलदार की कार्यवाही से खुश नहीं थे और विवाद होता परंतु मामला इसी लिए दब गया की खनिज अधिकारी भिड़े ने जेसीबी व डम्पर का पंचनामा ओर जप्तीनामा बनाया जिस पर गवाहों के भी हस्ताक्षर हुए। ग्रामिण चाहते थे की पंचनामा बने। खनिज अधिकारी ने बताया की में पंचनामा और जप्तीनामा बना कर कलेक्टर को सौंप दूंगा आगे की कार्यवाही कलेक्टर साहब करेंगे।
बता दें की शासकिय चरनौई की भूमी पर ना तो खनन हो सकता है और नाहीं अतिक्रमंण कर मकान बन सकता है। इसलिए की चरनौई की भूमी गायों को चरने के लिए सुरक्षीत रखी जाती है इस भूमी पर नगर पालिका अध्यक्ष द्वारा खनन करवाना शोभा नहीं देता है अध्यक्ष राकेश पप्पू जैन ने रात को ग्रामिणों से फोन पे बात कर मामले को रफा-दफा करने को भी कहॉ पर ग्रामिण लोग अड़े रहे।
बता दें की ग्रामिणों को कहना था की शासकिय सर्वे नंबर चरनौई की भूमी 169 ग्राम चौथखेड़ा में आती है और यह पंचायत क्षैत्र है बिना अनुमती के खनन नहीं करना चाहीए यह नगरपालिका के क्षेत्र की भूमी नहीं है इस समंबन्ध में कल और कलेक्टर को ज्ञापन देंगे रात में पूजारी मदनलाल गुर्जर, कमलसिंह गुर्जर, गौरीलाल गुर्जर, देवकरण गुर्जर, नंदलाल गुर्जर, बंसीलाल गुर्जर, हरीसिंह गुर्जर, श्यामसिंह गुर्जर और सामाजिक कार्यकर्ता और गांव के कई ग्रामिड़ इकठा हो गये थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here